बीबियों की अदला बदली करके चुदाई की

हेल्लो दोस्तों मैं आप सभी का नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम में बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। मैं पिछले कई सालों से इसका नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती जब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना है।
मेऱा नाम संचित है। मैं गुजरात में रहता हूँ। मेरा कद 5 फ़ीट 7 इंच का है। मैं देखने ने कुछ खास गोरा तो नही हूँ। लेकिन मेरी परसोनालिटी बहुत ही जबरदस्त है। कॉलेज के दिनों में लडकियां बहुटी पसन्द करती थी। मैंने कई सारी लड़कियों को अपने लौड़े से संतुष्ट किया है। लड़कियां मेरा लौड़ा खाकर बहुत खुश रहती थी। मेरा लौड़ा 11 इंच का है। जब 11 इंच का लौड़ा चूत में घुसता है तो चूत की जकन निकल जाती है। लड़कियों को मेरा लौंडा चूसने में बहुत मजा आता है। मुझे लड़कियों की चूंची पीने में बहुत मजा आता है। लड़कियों की चूंचियो को मैं दबा दबा कर पीता हूँ। लड़कियों को चोदने के लिए मुझे बहुत पापड़ बेलना पड़ता था। दोस्तों मै अब कपनी कहानी पर आता हूँ।
दोस्तों मै एक शादी शुदा मर्द हूँ। मैंने कब तक कई लड़कियों की चूत फाड़ी थी। लेकिन शादी के बाद मुझे सिर्फ एक ही चूत के दर्शन हर रात को होते है। मेरी बीबी बहुत ही गोरी है। उसके मम्मे बहुत ही जबरदस्त है। मैंने उसके मम्मे को दबा दबा कर बहुत बड़ा कर दिया। अब उसके मम्मे बड़े होकर लटकते रहते है। उसकी उम्र मुझे 3 साल कम है। उसकी उम्र का अन्दाज कोई नहीं लगा सकता। क्योंकि वो देखने में अभी बहुत कम उम्र की लगती है। लेकिन कुछ भी हो रोज रोज एक ही चूत कर हर इंसान परेशान हो जाता है। लेकिन बीबी होने के कारण उसे रोज चोदना पड़ता है। मेरे दो लड़के भी है। दो बच्चो को पैदा करके मेरी बीबी की चूत और भी ज्यादा ढीली हो गई है। एक बार हम लोगो ने बाहर घूमने जाने का प्लान बनाया। मै अपनी बीबी के साथ घूमने के लिए बाहर शिमला गया हुआ था। शिमला में मै एक होटल में रुका था। उसी होटल में एक और भी जोड़ा मिल गया हमे।
जो भी मेरी तरह ही था। सुबह सुबह उठ कर मैदान में मैं घूम रहा था। मैदान में घुमते हुए मुझे वो जोड़ा भी मिल गया। हम दोनों आपस में बात करने लगे। उसने मुझे अपने बारे में सबकुछ बताया। मैंने भी सबकुछ अपने बारे मर बता दिया। उसने अपना नाम तुषार बताया। उसकी बीबी भी मेरी बीबी से कुछ कम नहीं थी। मैंने उसके बीबी के बारे में पूंछा। तो उसने अपनी बीबी का नाम आलिया बताया। हम और तुषार अच्छे दोस्त हो गये। हम दोनो लोग साथ साथ ही घूमते थे। हमारी बीबियाँ भी अच्छी सहेली बन गई। हम दोनों लोग एक दूसरे से कुछ भी कह देते थे। तुषार मेरी बात का बुरा नहीं मानता था।

मैं- “तुषार मैं अपनी बीबी की चूत चोदकर तंग आ गया हूँ। तू भी बोर हुआ या नहीं अब तक”
तुषार- “तंग तो मैने भी हो गया हूँ। लेकिन दूसरी चूत कहाँ से लाऊं”
मै- “कुछ किया जाये ताकि ये पिकनिक हम लोगो को याद रहे”
तुषार- “यहाँ बीबियों के साथ ना आया गया होता तो कही बजी कोठे ओर लौंडिया चोदने चला जाता”
मै- “मै हाँ लेकिन बीबियाँ भी तो है। वो तो नहीं जाने देंगी”
तुषार- “वैसे एक काम किया जाये तो हम दोनों को नई चूत के दर्शन हो सकते है”
मै- “क्यों क्या करना है”
तुषार – ” सोच लो बाद में ना कहना”
मैं- “बता यार कैसे”
तुषार ने तो दिल की बात छीन ली। उसने अपने बीबी को मेरे बीबी से बदलकर चोदने की बात की। मैं भी खुश जो गया। उसकी बीबी आलिया के चुच्चे बहुत बड़े नहीं थे अभी। मैंने सोचा आलिया की चूंचियो को दबाने में बहुत मजा आयेगा। रात को हमने डरते हुए अपने बीबियों से बात की। बीबियाँ तो मानने को तैयार ही नहीं हो रहीं थी। किसी तरह जाकर एक दूसरे से चुदवाने को राजी कर पाया हूँ। मै आलिया को लेकर अपने रूम में जा रहा था। तुषार ने कहा- “एक ही जगह चुदाई किया जाये तो ज्यादा अच्छा रहेगा। मेरी पर्सनालिटी से तुषार डरता था। उसे लग रहा था कही मै उनकी बीबी की जान ना निकाल दूं। मैंने कहा ठीक है जो तुम चाहो। मैं भी तुषार के साथ वही पर रुक गया। एक ही बिस्तर पर आज दो लौंडिया चुदने वाली थी। मै आलिया की तरफ देख रहा था। हम दोनों की बीबियाँ एक एक ही लौड़ा खाकर तंग आ चुकी थी। वो भी नहीं कह पा रही थी। लेकिन आज विबियों के ख़ुशी का भी ठिकाना नहीं था। मैंने आलिया को अपने पास करके चिपका लिया। आलिया को चिपकाता देखकर। तुषार भी मेरी बीबी टीना को चिपकाने लगा।
आलिया को मैंने पकड़ कर कस कर अपनी बाहों में जकड लिया। उधर तुषार भी मेरी बीबी टीना को चिपका कर किस कर रहा था। मैंने भी आलिया को चिपका कर किस करने लगा। मैंने अपना होंठ आलिया की होंठ पर रख कर खूब जबरदस्त चुसाई करने लगा। आलिया के होंठ मेरी बीबी की होंठ से ज्यादा सॉफ्ट थी। आलिया के होंठो को अपनी बीबी की होंठ चूंसने से ज्यादा मजा आ रहा था। मैंने आलिया के बालों को पकड़कर उसका उसके होंठो को चूम रहा था। तुषार मेरी बीबी को इतना जोर किस कर रहा था लेकिन मेरी बीबी की साँस रोक रखी थी। मैने भी आलिया की होंठ को जबरदस्त चुसाई करने लगा। आलिया की होंठ को मैंने चूस चूस कर काला काला कर दिया। आलिया मेरी बीबी की तरह आलिया नही थी। वो भी मेरी तरह बराबर का साथ दे रही थी। मैंने आलिया को कस कस कर दबा दबा कर किस कर रहा था।आलिया भी मेरे होंठ को चूसने मव मस्त थी। आलिया की आँखे बंद थी। वो मेरे किस को महसूस करके मुझे किस कर रही थी।
मैंने आलिया की होंठ को काट काट कर चूसना शुरु किया। आलिया की होंठ को काट कर चूसने से आलिया गरम गरम साँसे छोड़ रही थी। आलिया की गरम गरम साँसे मुझे बहुत ही मजा दे रही थी। मै आलिया की होंठो को चूस चूस कर आलिया को गरम कर रहा था। मैंने आलिया की मुह में अपना जीभ डालकर आलिया की होंठो को चूस रहा था। आलिया की होंठ से लेकर मैं आलिया की जीभ तक को चूस रहा था। आलिया की होंठ की होंठ को चूसते हुए मैं आलिया को अपने कमरे में ले गया। आलिया को मैंने अपने कमरे में ले जाकर। आलिया को बिस्तर पर लिटाकर मै आलिया के ऊपर चढ़ गया। आलिया को मैं बिस्तर पर लिटाकर मैंने आलिया की होंठो पर अपने होंठ को सटा कर किस करने लगा। आलिया की होठो को मैंने चूस चूस कर सारा रस निकाल कर पी गया। आलिया की होंठो का रस बहुत ही मीठा लग रहा था। आलिया की चूंचियो पर मैंने अपना हाथ रख दिया। आलिया की चूंचियों पर हाथ रखते ही मेरा हाथ दब गया। आलिया चूंचियां बहुत ही सॉफ्ट थी। आलिया की चूंचियो को दाबने के लिए मैंने अपने हाथों से आलिया की चूंचियो को पकड़ लिया। आलिया के चूंचियो को हल्का सा ही दाबने पर उसकी पूरी चूंची सिमट कर हाथो में आ जाती थी।
आलिया की चूंची दबाई का पूरा मजा ले रहा था। आलिया की चूंचियो को मैंने अपने हाथों में लेकर खूब खेल खेल कर मजे ले रहा था। आलिया क़्क़ बि खूब मजा आ रहा था। आलिया की चूंचियो को दबाते ही आलिया की मुँह से “…अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ. …अअअअ.. .आहा …हा हा हा” की सिसकारियां निकालने लगती थी। आलिया की चूंचियो को दबाने में मुझे बहुत ही मजा आ रहा था। मैंने आलिया को ऊपर से नीचे की तरफ देखा। उधर तुषार मेरी बीबी के साथ क्या कर रहा है। उसका मुझे कोई पता नही था। आलिया ने नीले रंग का सलवार समीज पहना हुआ था। आलिया कुछ ज्यादा ही सेक्सी लग रही थी। पहली बार में तो वो मेरे बीबी जैसी लग रही थी। लेकिन आज वो कुछ ज्यादा ही खूबसूरत लग रही थी। आलिया की चूंचियो को देखने के लिए।
मैंने आलिया को उठाया। आलिया खड़ी होकर मेरे सामने अपनी समीज उठा दी। आलिया के समीज उठाने से उसके ढोंढ़ी दिखने लगी। उसका गोरा गोरा पेट देखकर मैआआ लौड़ा पागल होता जा रहा था। मैने आलिया की समीज को और ऊपर उठा कर निकाल दिया। आलिया की समीज को ऊपर उठाते ही आलिया की ब्रा सहित चूंचियां दिखने लगी। आलिया की ब्रा सहित चूंचिया बहुत ही आकर्षक लग रही थी। आलिया की चूंचियां बहुत ही लाजबाब लग रही थी। आलिया ने अपनी ब्रा को खुद ही हुक खोलकर निकाल लिया। आलिया की चूंचियो को देखकर मैं भी पागल होता जा रहा था। आलिया अपनी ब्रा को हाथ में लेकर। अपनी ब्रा की पट्टियो को खींच खींच कर मेरी तरफ देख रही थी। आलिया की यही अदा मुझे बहुत अच्छी लग रही थी। मै तो आलिया की मम्मो को ही देख रहा था। आलिया के मम्मो को मैंने अपने हाथों ने लेकर उछाल उछाल कर खेलने लगा। आलिया की चूंची को मैंने दबा दबा कर उसका भरता लगा डाला। आलिया की चूंचिया धीऱे धीऱे टाइट होती जा रही थी। आलिया की चूंचियो का निप्पल अपने मुयः में भरकर आलिया की चूंची पीने लगा। आलिया की चूंचियो को पीने में बहुत ही मजा आ रहा था। आलिया अभी जल्दी में माँ बनी थी।
आलिया की चूंचियो में से दूध निकल रहा था। आलिया की चूंचियो से निकला दूध बहुत ही मीठा लग रहा था। आलिया की चूंचियों को पीकर मैंने आलिया को अपने पास वही बिस्तर लिटा दिया। आलिया की सलवार का नाड़ा धीऱे धीऱे खोलकर मैंने नीचे से सरका कर निकाल दिया। आलिया की चूंचियो ने नीचे ब्लू रंग की ही पैंटी भी पहनी थी। आलिया की चूत को देखने को मैं व्याकुल होने लगा। आलिया की चूत को देखने के लिए मैंने आलिया की पैंटी को निकाल कर नंगा कर दिया। आलिया मेरे सामने नंगी लेती थी। आलिया की दोनों टांगो को फैलाकर आलिया की गोरी चूत का दर्शन करने लगा। आलिया की की चूत बालों से घिरी हुई थी। मैंने आलिया के चूत से बालों को हटाया। आलिया की चूत के बाल भी बहुत ही सिल्की थे। आलिया की चूत के बालों को हटा कर मैंने आलिया की चूत के दरार पर अपना मुह लगा दिया। मैं अपनी जीभ से हल्का हल्का आलिया की चूत को चाटने लगा। आलिया की चूत को चाटते ही मेरा लंड खड़ा होकर मेरी पैंट को फाड़ने लगा। आलिया की चूत को बहुत मजा आ रहा था। मैं आलिया की चूत को चाटने के लिए जैसे ही अपना मुँह लगाता। आलिया तुरंत ही “उ उ उ उ उ…अअअअअ आआआआ….सी सी सी सी…ऊँ…ऊँ…ऊँ…” की आवक़्ज निकालने लगती थी। आलिया की चूत को मैं अच्छे से पी रहा था।
आलिया की चूत फूली हुई थी। आलिया की चूत में अपना जीभ लगा लगस कर मैंने आलिया की चूत का रस निकाल लिया। आलिया की चूत का रस पीने के लिए मैंने आलिया की चूत पर अपना मुँह लगा दिया। आलिया की चूत से उसका माल निकल कर बहने लगा। मैंने आलिया का सारा माल चाट पोंछ लिया। आलिया की चूत का सारा माल मैंने पी लिया। आलिया को अपना माल मुझे पिला कर बहुत अच्छा लग रहा था। आलिया मेरा सर अपनी चूत में जोर जोर से दबा रही थी। आलिया की चूत का रस पीने के लिए मैंने आलिया की चूत में अपनी जीभ डाल दी। आलिया की चूत में अपनी जीभ डालकर आलिया की चूत का सारा माल मैंने पी लिया। मै आलिया के चूत का दाना काट रहा था। चूत का दाना काटते ही आलिया जोर से “ हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ …ऊँ…ऊँ…ऊँ सी सी सी सी… हा हा हा… ओ हो हो…” की आवाज निकालने लगती। मै आलिया की चूत को छोड़कर अपना पैंट खोलने लगा। आलिया को भी मेरा लौड़ा देखने का बेसब्री से इन्तजार था। आलिया की नजर मेरे पैंट पर लौड़े के ऊपर ही थी। मेरा पैंट नीचे गिरते ही आलिया की ख़ुशी का ठिकाना नहीं था। आलिया की चूत चोदने को मेरा लौड़ा तो कब का तैयार खड़ा था। मैंने भी आलिया की चूत में अपना लौंडा घुसाने को सोच ही रहा था। लेकिन उससे पहले आलिया ने मेरा लौड़ा अपने हाथों से पकड़ कर मुठ मारने लगी। आलिया मेरे लौड़े को घुमा फिरा कर खेल रही थी। आलिया मेऱा लौड़ा चूसने के लिए अपने मुँह में डाल लिया। आलिया के मुह में मेरा लौड़ा फूलता ही जा रहा था। आलिया ने मेरे लौड़े को सही आकार तो चूस चूस कर दिया।
आलिया को मेरा लौड़ा बहुत पसंद आया। आलिया की चूत को मै बहुत मजे ले ले ककर चोदना चाहता था। आलिया मेरा लौड़ा पकड़कर अपनी हाथो में आगे पीछे करके मुठ मार रही थी। मेरी लौड़े की दोनों गोलियों को अपने मुह में रख कर। टॉफी की तरह चूस रही थी। आलिया ने मेरे लौड़े को चूस कर बडा लम्बा और मोटा बना दिया। मैंने आलिया की चूत में अपना लौड़ा घुसाने के लिए। मैंने अपना लौड़ा आलिया से छुडाकर। आलिया की टांगो को फैलाकर आलिया की चूत पर अपना लौंडा रगड़ने लगा। आलिया की चूत पर मेरा लौड़ा खूब तांडव करके ख़ुद को रगड रहा था। आलिया की चूत को मैंने अपने हाथों से मसल रहा था। आलिया ने मेरा लौड़ा अपनी चूत में पकड़ कर डालने लगी। क़्क़लिया के चूत में मेरा लौड़ा घुस तो गया। लेकिन आलिया की चूत दर्द करने लगीं। मेरा 11इंच लौड़ा आलिया की चूत की जान निकाल दी। आलिया जोर से “आ आ आ अह्हह्हह…ई ई ई ई ई ई ई…ओह्ह्ह्हह्ह… .अई. ..अई..अई…अई…मम्मी….” की आवाज के साथ चीखने लगीं। मैंने आलिया की चूत में अपना लौड़ा जड़ तक घुसाने लगा। आलिया की चूत में मेरा लौड़ा पूरा घुसकर आलिया की जबरदस्त चुदाई कर रहा था। आलिया की चूत में मेरा लौड़ा सट सट अंदर बाहर हो रहा था। आलिया को मैंने झुका दिया।
पीछे से आलिया की चूत में अपना लौड़ा डाल कर। आलिया की कमर कों पकड़ कर आलिया की चूत में अपना लौंडा जल्दी जल्दी घुसा रहा था। मैंने कुछ देर तक आलिया की चुदाई करके आलिया की चूत को फाड़ कर उसका भरता लगा डाला। आलिया की चूत बार बार पानी छोड़ रही थी। आलिया की चूत के पानी में भी मेरा लौड़ा चुदाई कर रहा था। आलिया की चूत को चोदने में कब कुछ भी मजा नहीं आ रहा था। बस लौड़ा ही नहा नहा कर डुबकी लगा रहा था। आलिया की चूत से लौड़ा निकाल कर आलिया को चटाया। आलिया ने मेरे लौंडे पर लगें सारे माल को चाट कर साफ़ कर दिया। आलिया को मैंने कुतिया बनाकर अपना लौड़ा आलिया की गांड़ में पेल दिया। आलिया खूब जोर से “आआआ अह्हह्हह…ईईईईईईई…ओह्ह्ह्हह्ह….अई…अई..अई…अई…मम्मी….” चिल्लाने लगी।
मैंने आलिया की गांड़ चुदाई तेज कर दी। कुछ देर बाद आलिया को भी गांड़ चुदाई में मजा आने लगा। आलिया की गांड़ चुदाई करके मैंने आलिया की गांड़ में ही सारा माल झड़ दिया। आलिया की गांड़ से माल बहकर बाहर गिरने लगा। आलिया अपने जीभ से चाटकर साफ़ कर दी। आलिया को मैं जितने दिन शिमला में था। उतने दिन खूब चोदा। तुषार भी मेरी बीबी को खूब चोदा। हम दोनों अब हर साल अपनी बीबियों को बदलकर चुदाई करते है। कहानी आपको कैसे लगी, अपनी कमेंट्स नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर जरुर दे।

3 thoughts on “बीबियों की अदला बदली करके चुदाई की

  1. Vikrant

    Agr Koi husband apni wife ko mujhse chudwana chahta h to mujhe mail ya contact kre m aapki wife ko vo maja dunga jo aaj tk Nahi mila unko m unki chut aur gand ke hole ko pura andr tk chatunga jeeb se phir uske bad apne lund se chudai krunga m sex krte time unke andr Ak janwar jga dunga bs Ak bar Meri service try Karo uske bad aap khud mujhe invite karogi

    Reply

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *