बहन का गैंग बैंग : दो प्रॉपर्टी डीलर चोद रहा था मेरी बहन को

हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम राकेश है मेरी उमर 21 यियर्ज़ है।  मैं दिल्ली का रहने वाला हू। आज मैं आपको नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कहानी सूना रहा हु, पहले मैं माफ़ी चाहता हु, मेरी हिंदी ठीक नहीं है इसलिए गलतियां हो सकती है। मेरे घर मे मेरे पेरेंट्स ओर दो बहन है बड़ी वाली की शादी हो रखी है। दोनो ही बहने मेरे से बड़ी है ओर बहूत ही मस्त सेक्सी है बड़ी बहन जिस की शादी हो रखी है का नाम कृतिका जिस की हिगत 5’4″ है ओर उसका फिगर 36-28-38 है ओर छोटी का नाम शीतल है उसकी हिगत 5’5″ है ओर फिगर 34-27-36 है उसकी गांद बिकुल मस्त गोल-गोल है।कृतिका दीदी अपने हज़्बेंड के साथ जयपुर मे रहती है। ये स्टॉरी मेरी ओर मेरी बहन आर्ट की है। शीतल कॉलेज जाती वो म्बा कर रही है। मैने न्या न्या कॉलेज जाय्न किया था ओर नेये फ्रेंड्स भी बन गये थे। वो सब सेक्स की बात करते तो है ओर भी एग्ज़ाइटेड हो जाता। मेरे घर मे दो बेडरूम है एक मे मम्मी पापा ओर एक मे हम दोनो बही बहन सोते है।

मेरी फॅमिली मॉडर्न टाइप की है सो मेरी बहन की ड्रेसस भी मॉडर्न ही होती है। वो जब टाइट कपड़े पहनती है तो उसकी गांद ओर चूची एआक दम बड़े-बड़े दिखते है जी करता है अभी पकड़ कर मसल डू बुत बहन है मैं ऐसा नही कर सकता था। हम दोनो बही बहन काफ़ी ओपन थे ओर एआक ही रूम मे सूटे थे। जब मेरी बहन मृेरे साथ होती मेरी नज़र उसकी गांद ओर चूचीयों पर अटक जाती। कॉलेज मे भी मेरे दिमाग़ मे दीदी की सेक्सी बॉडी घूमती रहती थी । एआक बार पापा का ट्रान्स्फर 2 मंत के लिए बिहार हो गया ओर उसी डूरान नानी जी की डेत हो गये। मम्मी को भी 13 दिन के लिए मामा जी घर जाना पद गया।
मम्मी हम दोनो भाई बहन को संजा कर चली गये। अब मैं ओर मेरी बहन ही थे घर मे।

मैने सोचा मोका अक्चा है दीदी को codne का। मैं प्लान ब्नाने लगा। नेक्स्ट दे मेरा कॉलेज मे मॅन नही लगा मैं 10:00 ब्जे ही घर वापिस अगया। मैने देखा एआक कार घर के बाहर कड़ी है। मैने सोचा कों आया होगा इस टाइम, मैने बिके को साइड मे लगाया ओर अपनी चाबी से घर का डोर खोल कर अंदर गया। अंदर कोई नही दिखाई दिया तभी मैने किसी आदमी के बोलनेकी आवाज़ सुन्नी वो मम्मी के बेडरूम से आ रही थी। मैने जाके विंडो से देखा बेडरूम मे दो आदमी बेड पेर कोल्डद्रिंक पे थे ओर दीदी खड़ी थी। वो दोनो आदमी मिश्रा ओर सलीम प्रॉपर्टी डीलर है ओर हमरी कॉलोनी मे रहते है। ऐसा लग रहा था की वो दोनो अभी आए है ओर दीदी ने उन्हे कोल्ड्रींक सर्व की है। मैं चुप छाप से उनकी बातें सुन ने लगा।

उनमे से एआक आदमी दीदी से बोल रा था की तुम आज बहुत सेक्सी लग रही हो जी भर के chodunga साली तुझे।

उसकी ये बात सुन कर मूज़े बहुत गुस्सा आया बुत फिर मैने सोच की पूरा सीन ही क्यो ना देखा जाए। मेरी समाज़ मे ये नही आह रा था की दीदी इन दोनो सांड़ जैसे लोगों से कैसे पाट गये। वो दोनो तो दीदी की चूत का भोसड़ा ब्ना दे गये।तभी उस मिश्रा ने दीदी का हाथ पकड़ कर अपनी ओर खिछा। ओर दीदी उसकी गोद मे बात गयइ। दीदी ने मिश्रा से दूसरे आदमी की बारे पूछा तो वो बोला मेरा फ्रेंड है। ओर वो दीदी के चूची मसालने लगा। दीदी बोली क्या कर रहे हो पहले इसे तो बाहर भेजो। वो बोला साली रंडी आज हम दोनो ही तेरी चुदाई करेंगे। दीदी बोली नही यार उस्दीन का दर्द तो ठीक भी नही हुआ है ओर आज दो दो। ये बात सुन कर मेरा माता तनका की दीदी पहले भी उस से चुड चुकी है। फिर मिश्रा ने उसे एआक टॅबलेट दी ओर बोला की ये खा लो दर्द बिल्कुल भी नही होगा दीदी ने वो टॅबलेट खा ली।

फिर दीदी मिश्रा से बोल रही थी प्ल्ज़ यार मान जाओ ना फिर कभी कर लेना। बुत मिश्रा बोला चल साली चुप कर बोला ना अब दर्द नही होगा ओर दीदी को बेड पर पटक कर दीदी की छुचियों बेरहमी ये मसालने ल्गा। तभी सलीम भी खड़ा हुआ ओर दीदी की गांद को मसालने लगा। दीदी के मूह से उः उहह की आवाज़ आह रही थी। सलीम बोला नंगी तो कर साली को मिश्रा ने दीदी को खड़ा किया ओर दीदी का टॉप ओर जीन्स निकल दिए अब वो ब्रा पेंटी मे थी। वाउ दीदी को पहली बार ब्रा-पेंटी मे देखा था मैने। क्या मस्त लग रही थी दीदी बिल्कुल साफ़ेद थी उसकी बॉडी, एआक दूं भर निकली हुई दीदी की गांद ओर बड़ी बड़ी छुची जो दीदी की सास के साथ उपेर नीचे हो रही थी। सलीम पीछे से दीदी की गांद को दबने लगा ओर दीदी की पेंटी निकल दी। ओर मिश्रा ने दीदी ब्रा निकल दी उसकी छुचियों को चूसने लगा। वो दोनो दीदी के जिस्म से खेल रही थे दीदी भी मूज़े ले रही थी।

फिर मिश्रा ओर सलीम ने भी अपने कपड़े निकल दिए ओर दोनो अंडरवेर मे आ गये। दीदी उन दोनो नंगे सादों के बीच मे बच्ची सी लग रही थी। मिश्रा ने दीदी को पकड़ कर अपने अप्पर लेयटया ओर बोला साली अब नाटक मत कर एंजाय करने दे ओर मज़े ले। दीदी बोली कों सी टॅबलेट दे दी तुमने मेरा सर गुम रा है। तभी सलीम बोला साली अभी पूरा असर होने दे देख फिर तू कैसे चुड़वति है। ओर फिर दीदी की टांगे खोल कर उसकी चूत चाटने लगा। मिश्रा ने दीदी के बूब्स पकड़े ओर दीदी के साथ वाइल्ड्ली किस करने लगा। दीदी भी अब उनका साथ दे रही थी सयद टॅबलेट का असर हो गया था उस पर। दीदी ने मिश्रा का अंडरवेर नीचे क्या ओर उसका लंड हाथ मे ले के शालने लगी। उसका लंड बहुत बड़ा था 7″ का होगा कम से कम। मैं सोच रा था की ये दीदी की छोटी सी चूत मे कैसे जाएगा।

फिर मिश्रा ने दीदी से बोला चल साली कुट्टिया अब चूस मेरा लंड ओर दीदी का सर पकड़ कर अपने लंड पे ले गया ओर लंड दीदी के मूह मे गुस्सा दिया। दीदी उसके लंड को चूसने लगी, दीदी बहुत ही मज़े से मिश्रा का लंड को उपेर नीचे कर के चूस रही थी। सलीम दीदी की चूत पूरी खोल के चाट रा था। दीदी की चूत एआक दूं गुलाबी थी पूरी तरह सवे की हुई। दीदी की चूत से पानी आह रहा था जो उसकी गांद के होल के अप्पर होते हुए बेड पर तपाक रहा था। सलीम दीदी की पूरी चूत को मूह मे लेके चूसने लगा, दीदी के बॉडी अकड़ने लगी ओर वो मिश्रा का पूरा लंड मूह मे लेने की कोसिस करने लगी। दीदी अब पूरा मज़ा ले रही थी, वो लंड को किसी पॉर्न स्तर की तरह चूस र्ही थी।

फिर सलीम ने बोला चल साली कुट्टिया जरा मेरे लंड को भी तो सवद चख ले ओर बेड पर लाते गया। मिश्रा खड़ा होके बेड पे पीछे आह गया ओर दीदी को उल्टा किया ओर उसकी गांद के होल पर अपना अगुठा रगड़ने लगा। दीदी एआक दूं से पीछे मूडी ओर मिश्रा की ओर देखा ओर एआक स्माइल दी। मेरी समाज़ मे नही आह रहा था की जिस दीदी को छोड़ने के बारे मे इतना सोचता था वो तो एआक दम चुड़क्कड़ रंडी निकली जो अपने से दुगनी उमर के दो आदमणयों से चुड र्ही है। मैने मोबाइल निकाला ओर वीडियो बनाने लगा। सलीम बेड पर सरक कर दीदी के आगे आया ओर बोला चल साली रंडी दिखा अपने मूह का कमाल। दीदी ने सलीम का अंडरवेर नीचे किया ओर उसका लंड देख कर एआक दूं चोंक गये उसका लंड कम से कम 10″ का था मोटा सूपद एआक दूं चिकना। सलीम बोला क्यो साली रंडी नही देखा है ना एसा लंड कभी? दीदी ने उसका लंड हाथ मे लिया ओर बोली देखा तो है बुत सिर्फ़ ब्फ मूवीस मे अश्ली तो आज ही देखा है। अवर का लंड दीदी के हाथ मे भी नही आह रहा था। मैने सोच की दीदी इतना बड़ा लंड कैसे चूसे गी ओर ये लंड जुब दीदी की चूत मे जाए गा तब उसकी क्या हालत होगी।

दीदी ने सलीम के लंड का सूपद मूह मे लिया ओर उसे गीला किया। फिर दीदी उसके लंड के अप्पर थूक-2 की गीला किया ओर अपनी उंगलियो से अप्पर नीचे करते हुआ मूह मे लेने लगी। दीदी सलीम के लंड के सूपद को लोलीपोप के तरह चूसने लगी। मिश्रा ने दीदी को डॉगी स्टाइल मे किया ओर उसकी चूत ओर गांद को चाटने लगा। दीदी भी पूरे जोश मे सलीम का लंड पी र्ही थी। दीदी डॉगी स्टाइल मे थी अपने दोनो हाथ बेड पर रख कर अनवर् का आधा लंड मूह मे लेके अप्पर नीचे कर र्ही थी। ओर मिश्रा दीदी की चूत ओर गांद पर अपनी जीभ घुमा रहा था। वो नज़ारा किसी ब्फ से कम नही था बस फराक इतना था की पॉर्न आक्ट्रेस की जघा दीदी दो दो लुंडों से मूज़े ले रही थी।

फिर मिश्रा ने दीदी की लेग्स को तोड़ा सा खोला ओर अपना लंड दीदी की चूत पर रख कर अप्पर नीचे रगड़ने लगा। दीदी ने सलीम का लंड मूह से निकल उसके मूह से लार तपाक रही थी वो पनडे से बोली सेयेल कुत्ते क्यो तडपा रहा है गुस्सा दे ना अब। तभी सलीम ने मिश्रा के तरफ़ आखों से कुछ ईशर किया। सलीम दीदी से बोला की क्या जल्दी साली रंडी आज तुझे बहुत तड़पना है। मिश्रा ने अपनी पेंट उठाए ओर उसमे से एआक ट्यूब निकली ओर अपने लंड पर लगा कर वापिस दीदी के पीछे आह गया। ओर अपना लंड दीदी की चूत पर रखा ओर सलीम के तरफ देखा सलीम ने दीदी का सिर पकड़ कर अपने लंड दबा दिया उसका लंड आढ़ाए से जादाद दीदी के मूह मे चला गया। दीदी के आखोनो मे पानी आने लगा तभी मिश्रा ने एआक ही जटके मे अपना पूरा लंड दीदी की चूत मे गुस्सा दिया। अब मिश्रा का पूरा लंड दीदी के चूत मे था, दीदी के आखों से आशु आह रहे थे सलीम का लंड दीदी के मूह मे होने के कारण उसकी चीख भी नही निकल पाए। सलीम ने दीदी हा सिर छोड़ दिया ओर दीदी एआक दूं उसका लंड मूह से भर निकल कर हफने लगी। उधेर मिश्रा ने दीदी के कमर को पकड़ कर अपना लंड दीदी की चूत मे गाड़ रखा था। दीदी बोली सेयेल कामीनो मार दिया, आराम से भी तो कर सकते हो ना। मैं नोट किया की दीदी की चूत मे मिश्रा के लंड का कोई खास असर नही हो रहा था। वो रिलॅक्स लग र्है थी जैसे कुछ अंदर गया ना हो। इस का मतलब था की दीदी बहुत ही चुड़क्कड़ है ओर अपनी चूत खूब मरवाई है।

मिश्रा भी दीदी की कमर को पकड़ कर उसकी चूत को छोड़ रहा था, बीच बीच मे अपना पूरा लंड दीदी की चूत से निकलता ओर फिर एआक ही झटके मे पूरा दीदी की चूत मे गुस्सा देता। दीदी भी उसके हर झटके का जवाब अपने झटके से दे रही थी। दीदी उन दोनो के लुंडों का पूरा मज़ा ले रही थी। फिर उन दोनो ने एआक दूष्रे को देखा ओर अपनी अपनी जगहे बदल ली। अब दीदी मिश्रा का लंड चूस रही थी ओर सलीम दीदी के पीछे जा कर अपना लंड दीदी की चूत पर सेट करने लगा। दीदी पीछे मूडी ओर सलीम से बोलने लगी की प्ल्ज़ यार आराम से करना तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है। सलीम ने दीदी को एआक कत्टील्ी स्माइल दी ओर मिश्रा की तरफ देखने लगा। मिश्रा उसका इशारा समाज़ गया ओर दीदी का सिर पकड़ कर अपने लंड उसके मूह मे ठुसने लगा उसने अपना पूरा लंड दीदी के मूह मे डाल दिया। दीदी सास भी ले पा र्है थी। सलीम ने दीदी के कमर को काज़ कर पकड़ा ओर अपना लंड दीदी की गांद के होल पर रखा ओर जब तक दीदी कुछ समाज़ पाती। सलीम एआक ज़ोर का जटका दिया अनपा आधा लंड दीदी की गांद मे गुस्सा दिया।

मेरी भी सास रुक गये मार दिया कामीनो ने मेरी बहन को सेयेल सांड़ की तरह मेरी दीदी की चुदाई कर रही थे। दीदी जाटपटाने लगी ओर अपना सिर मिश्रा से छुड़ा कर बोली मार गये प्ल्ज़ निकालो इशे मेरी गांद से आए मा मार गये। सलीम हेस्ट हुए बोला कुट्टिया अभी तो आधा ही गया है पूरा जाना तो अभी बाकी है साली रंडी आज तुझे एआक असली मर्द मिला है देख कितना मज़ा आएगा ओर मज़ए के साथ तोड़ा दर्द तो चलता है।
फिर मिश्रा ने अपना लंड दीदी के मूह मे दे दिया ओर उसका मूह छोड़ने ल्गा। सलीम ने अपना लंड डीड़ि की गांद से तोड़ा सा भहर निकाला ओर एआक झटके से ओर अंदर तक थोक दिया। दीदी के मूह से चींख निकल गये वो रोते हू बोली प्ल्ज़ यार गांद मत करो चूत मे गुस्सा लो प्ल्ज़ पर सलीम ने दीदी के एआक भी नही सुनी ओर अपनी पूरा लंड दीदी की गांद मे बैठा दिया। दीदी भी अपने हाथों के बाल खड़ी हो कर अपनी गांद को आगे करने लगी पर सलीम की पकड़ के सामने दीदी कुछ नही कर पाई। वो स्लोली स्लोली अपना लंड दीदी के गांद मे आगे पीछे करने लगा। सलीम का लंड दीदी की गांद मे अपनी जघा ब्ना चुका था दीदी का भी दर्द कम हो गया था वो फिर से मिश्रा का लंड चूसने लगी। वो मिश्रा का पूरा लंड मूह मे ले ले कर चूस रही थी बिल्कुल रंडी की तरह वो अपनी चूत को हाथ से रग़ाद रही थी। अपने मूह से दीदी ने मिश्रा का लंड निकाला ओर बोली क्या कर दिया तुमने मेरी चूत को बहुत कुज़ली हो रही है इसमे ओर सलीम से रिक्वेस्ट करने लगी की अपना लंड दीदी की चूत मे डाल दे। सलीम ओर पांड्सी ने एआक दूसरे की ओर देखा ओर हासणे लगे। सलीम बोला की मैने बोला था ना की आज तुझे बहुत तड़पना है अभी तो सुरुवात है ओर दीदी की गांद को ज़ोर ज़ोर से छोड़ने ल्गा। दीदी मिश्रा से बोली प्ल्ज़ तुम हे डाल दो अपना लंड मेरी चूत मे बहुत कुजली हो रही है।

मिश्रा बोला चूत तो अब तेरी रात को ही चुड़े गी अभी तो बस गांद मरवा। सलीम ने दीदी की गांद से अपना लंड निकाला ओर आगे आह गया। सलीम का लंड दीदी की गांद से निकालने के बाद भी उसकी गांद का होल खुला हुआ था। क्या मस्त लग रही थी दीदी की गांद। अब मिश्रा पीछे आया ओर दीदी को सीधा किया ओर उसकी दोनो लेग्स को अपने कंधे पर रख कर दीदी गांद मे अपना लंड गुस्सा दिया। दीदी की गांद आराम से मिश्रा का लंड निगल गये ओर वो अपने हाथ से चूत को रगड़ने लगी। वो बोली क्या कर दिया मेरी चूत को प्ल्ज़ बीटीये दो ना सलीम बोला साली आज तेरी खुजली दो लुंडों से नही मिटने वाली आश क्रीम लगाई है। रात को बुला लेना फिर मिटता देंगे तेरी खुजली को। दीदी बोली रात को मेरा भाई होगा घर मे नही बुला सकती प्ल्ज़ एआक बार डाल दो चूत मे। सलीम बोला चल साली रंडी एआक बार डालते है पर एआक शर्त है वो बोली ठीक है डाल दो। सलीम बोला बेना सुने ही हन करदी दी साली, सुन तो लेती। अब मिश्रा बेड पर सीधा लाते गया ओर सलीम ने दीदी को उसके लंड कर बैठने को खा। दीदी मिश्रा के लंड को अपनी गांद मे डाल कर उसके उप्पर बैठ गये फिर सलीम ने दीदी के लेग्स को छोड़ा किया ओर उसे मिश्रा के अप्पर हे सीधा लाते आ दिया। अब दीदी मिश्रा का लंड अपनी गांद मे लेके सीधी उसके उप्पर लाते आ हुए थी ओर सलीम ने दीदी के अप्पर आह कर अपना लंड दीदी की चूत मे गुस्सा दिया। दीदी आह आ करने लगी ओर दो टीन जातको के बाद वो दोनो लुंडों को अपनी चूत ओर गांद मे निगल गये। अब वो दोनो दीदी के दोनो होल्स को फाड़ रहे थे।

करीब 30 मीं की तबाद तोड़ चुदाई के बाद सलीम अपना लंड दीदी के मूह के पास लाया ओर अपना पानी दीदी के नूः मे छोड़ गिया। दीदी उसका पूरा पानी पी गये ओर उसका लंड चाट-2 कर सॉफ कर दिया। अब मिश्रा ने भी अपना पानी दीदी के मूह मे छोड़ा ओर अपने कपड़े पहन ने लगे। मैं तभी कॅम्रा बंद किया ओर घर से बाहर आया ओर अपनी बिके लेके थोड़ी दूर जा खड़ा हुआ। 5 मीं बाद सलीम ओर मिश्रा उसी गाड़ी मे आते हुए दिखाई दिए। मैने बिके स्टार्ट के ओर घर की तरफ चल पड़ा।
घर जा कर मैने बेल बजाईए दीदी ने डोर खोला। अब दीदी ने बॉक्सर ओर त-शर्ट पहनी हुए थी। चुदाई के कारण उसकी चाल भी बदली हुए थी। दीदी ने मुज़से खाने के बारे मे पूछा मैने माना कर दिया। मेरे दिमाग़ मे दीदी की चुदाई के सीन चल रहे थे।मैने भी कपड़े चेंज किए ओर दीदी के साथ रूम मे टीवी देकने लगा। मैने दीदी से पूछा दिन कैसा रा? वो बोली अक्चा रा मैने उसे बोला की पूरा मज़ा लिया है आज तो दो का? वो बोली कैसा मज़ा ओर कों दो? मैने उसकी रेकॉर्ड की हुए वीडियो दिखा दी। वो रूणे लगी ओर बोली प्ल्ज़ पापा मम्मी को कुछ मत ब्ताना। मैने खा की नही बोलूँगा बुत तुम्हे वो सब मेरे साथ भी करना पड़ेगा। वो बोली भाई हो आप मेरे ये नही हो सकता। मैने बोला ठीक है तो मैं मम्मी पापा को सब बीटीये देता हू।

वो बोली नही मैं कर लूँगी। मैने दीदी को बाहों में ले लिया ओर उसे पागलों की तरह किस करने लगा।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *