अपने बॉस से सेक्स सम्बन्ध बनाई पति के दबाब में

हेलो दोस्तों मेरा नाम रूबी है, मैं एम बी ए हु, और एक आईटी कंपनी में मार्केटिंग हेड हु, मैं एक साधारण मध्यम क्लास फैमिली से आती हु, गोरखपुर उत्तरप्रदेश से, शादी मेरी बड़े घर में हो गया है, दिल्ली में मेरे घर पे कई सारे कार नौकर चाकर और आधुनिक युग की सारी सुख सुविधा का सामान मेरे घर में है, मैंने एक चीज नोटिस किया है, इन् बड़े घरो में की पैसे के चलते ये लोग कितना भी ज्यादा गिर जाते है, ये अपने बहन की बीवी को तक शेयर करने से नहीं परहेज करते है, आपलोग भी देखते होंगे यार क्या फैमिली है रॉयल है, क्या रुतवा है, ये रुतवा के पीछे एक जिल्लत भरी ज़िंदगी भी होती है, मैं सब की भी बात नहीं कर रही हु, पर मैं कई फैमिली को जानती हु जो इस तरह से करता है, मैं अपने परिवार के बारे में नहीं चाहती थी की सब बात बताऊँ पर मन हल्का करने के लिए मुझे भी आपलोगो को अपनी आपबीती सुननी जरूरी है,

मेरी उम्र अभी 28 है, काफी सुन्दर हु, तभी तो साधारण फैमिली का होते हुए भी इनलोगो ने मेरे यहाँ शादी की, मुझे मेरे पति सेक्स की देवी कहते है, हु भी सुन्दर, काफी गोरी, 36 की साइज की मेरी बूब्स है, मैंने थोड़ी नहीं बल्कि पूरी सेक्सी हु, तभी मैं आपको अपने शरीर कर बारे में वर्णन कर रही हु, मेरा पति मुझे रात दिन जब भी टाइम मिलता है चोदता है, मैं भी काफी इंजॉय करती हु, मेरी सेक्स लाइफ बहुत ही अच्छी है, पर आज मैं उसका एक दूसरा पहलु भी आपके सामने पेश कर रही हु, की मेरा पति मुझे आजकल शेयर भी करने लगा है.

मैंने एक कंपनी में एरिया हेड हु, मेरा बॉस जो 35 साल के करीब का है, काफी ऐशवाज है, मैं कई बार उसको हाई प्रोफाइल कॉल गर्ल के साथ देखा है, वो मुझे भी काफी घूरता था, और फ़्लर्ट भी करता था, पर मैं ज्यादा तबज्जो नहीं देती थी, मैं सिर्फ काम से काम ही रखती थी, आप ये कह सकते है की वो मुझे पाने की काफी कोशिश की पर वो नाकामयाब रहा, धीरे धीरे वो मेरे घर से भी थोड़ा बात चित करने लगा, और मेरे हस्बैंड से दोस्ती कर लिया, अब उसे आसान हो गया था मेरे तक पहुचना, फिर तो पार्टी करना, पार्टी में बुलाना, यही सब चलता रहा, कई बार ऐसे मौके पे मेरा बॉस मेरे से गले भी मिलने लगा, ताकि उसको मेरी चुचिओं का दबाब और गर्माहट महसूस हो, मैं ये सब बात को भलीभांति समझती थी,

फिर मेरा बॉस और मेरे हस्बैंड में वाइफ स्वैप करने (पत्नी को आदान प्रदान) करने की सहमति हु, मैं नहीं चाहती थी की मैं किसी और के बाहों में जाऊं पर मैं भी थोड़ा सा माहोल में ढलने की कोशिश करने लगी, मेरे बॉस की पत्नी सुलेखा भी बहुत सुन्दर और हॉट औरत है, मेरा पति तो कई बार मुझे चोदते हुए सुलेखा को याद करता है, और मेरे बॉस ने ऑफर किया की आज रात को तुम मेरी पत्नी के साथ और मैं तेरी पत्नी के साथ एन्जॉय करेंगे. दोनों में डील हो गयी और शनिवार के रात को ये सब होना था. पर मैंने मन कर दिया, तो मेरा पति काफी गुस्सा हो गया, और कहने लगा, गंवार हो तुम, गाँव की हो तुम, सुन्दर हो तो क्या हुआ, आख़िार तू बड़े घर की बहू बनने के लायक नहीं हो,

मैं डर गयी कही वो मुझे छोड़ ना दे, क्यों की कई लड़कियों के साथ अफेयर है, तो मैंने हां कर दिया, और शनिवार के शाम को, ब्लैक कलर की साडी पहनी, कट ब्लाउज, गला डीप, रेड कलर की लिपस्टिक लगाईं, बाल स्ट्रेट कर के संग्रीला होटल पहुंच गयी हस्बैंड के साथ, उधर से वो दोनों भी आये, हम चारो डिनर किये, अब मेरे तरफ मेरा बॉस और मेरे हस्बैंड के तरफ बॉस की पत्नी, मैं भी रंडी की तरह लग रही थी, और उधर से तो वो और भी महा रंडी लग रही थी, उसका तो दोनों चूची गाउन से बाहर होने को लग रहा था, मेरा बॉस मेरे पीठ पे हाथ रखा और कहने लगा तुम बहुत सुन्दर हो, मैं धन्य हु, जिसको तुहारे पति के जैसा दोस्त मिला है, उधर से मेरा पति भी बोला मी टू.

फिर खाना खाकर चारो ने व्हिस्की पि, और दोनों कपल एक दूसरे के पत्नी को लेके अपने अपने होटल के कमरे में चला गया, उधर का तो नहीं पता क्या हो रहा था पर मैं अपनी बात बता सकती हु, कमरे के अंदर जाते ही, रोहन (मेरा बॉस) दरवाजा बंद कर दिया, और मुझे बाहो में भर लिया, और अपना लण्ड मेरे चूत के पास ले जाके धीरे धीरे खड़े खड़े धक्का लगाने लगा, और मेरे होठ को चूसने लगा, मुझे भी एक सुन्दर इंसान मिला था मैं भी मौके का फायदा उठाई और उसके शर्ट के बटन को खोल की उसके सीने को सहलाने लगी, और वो मेरे ब्लाउज के ऊपर से ही मेरे बूब्स को दबाने लगा, मैंने पीछे घूम गयी वो अब मेरे गांड के ऊपर लण्ड रख की हल्का हल्का सटाने लगा और अपना हाथ आगे करके मेरे चूच को दबाने लगा फिर वो मेरे पेट को सहलाने लगा आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है.

थोड़े देर में ही हम दोनों एक दूसरे के कपडे खोल चुके थे, व्हिस्की भी अपना असर दिखा रहा था, फिर रोहन ने मेरी चूत को चाटना सुरु किया और एक हाथ से मेरी चूच को भी दबाते रहा, करीब १० मिनट तक ऐसा किया मुझे रोहन का मोटा लण्ड चाहिए थी, मैंने मोटा लण्ड पकड़ के अपने मुह में ले ली, और चाटने लगी, वो आअह आअह कर रहा था, फिर मुझे उल्टा लिटा दिया बेड पे और मेरी गांड को जीभ से चाटने लगा, और वो कहे जा रहा था, क्या माल है तुम यार, तुमको चोदने के लिए मुझे अपना बीवी तुम्हारे हस्बैंड को देना पड़ा, पर अब मैं ऐसा नहीं करूँगा तुम्हे जितना पैसा चाहिए लेते रहना तुम्हारी नौकरी भी पक्की, बस तुम ऐसे ही चुद्वाते रहना, और फिर वो अपना मोटा लण्ड निकाल के मेरे चूत के ऊपर रख के पेलने लगा,

रोहन का लण्ड मुझे काफी भा रहा था, उसका चोदने का स्टाइल भी कविले तारीफ था, वो अलग अलग पोज़ में मुझे चोदने लगा, मेरा तो तन बदन सिहर रहा था, मैं भी रोहन को मदद कर रही थी वो जैसा चाह रहा था मैं वैसा ही हो रही थी, उसकी बाहों की पकड़ बड़ी ही सेक्सी थी, मुझे उसने खूब चोदा रात भर, अलग अलग पोज़ में, मुझे इतनी मस्ती कभी भी नहीं आई थी, अब तो मैं रोहन के लण्ड की दीवानी हो चुकी हु, अब एक महीने में १५ दिन तो रोहन ही चोदता है, मैं आजकल काफी खुश हु, पैसा भी है सोहरत भी है और मजा भी, और क्या चाहिए ज़िंदगी में.